Saturday, April 24, 2010

हिंदुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड, मंगलूर एल.पी.जी. आयात सुविधा कार्यालय में हिंदी कंप्यूटर प्रशिक्षण संपन्न



कंप्यूटर के माध्यम से राजभाषा कार्यान्वयन में तेजी लाना संभव – श्री छतर सिंह


हिंदुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड, मंगलूर एल.पी.जी. आयात सुविधा कार्यालय में दि.24 अप्रैल, 2010 को हिंदी कंप्यूटर प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की गई । हिंदी समन्वयक श्री कमल दीप ने अतिथियों तथा प्रतिभागियों का स्वागत किया । कार्यशाला में टर्मिनल के 25 अधिकारी शामिल हुए । कार्यशाला का उद्घाटन श्री छतर सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक ने किया । इस अवसर पर उन्होंने कहा कि मंगलूर एल.पी.जी. आयात सुविधा की सभी इकाइयों में राजभाषा कार्यान्वयन में प्रगति है, हिंदी में पत्राचार के अलावा राजभाषा अधिनियम और नियमों के अनुपालन के लिए निष्ठापूर्वक प्रयास किया जा रहा है । उन्होंने कंप्यूटरों में हिंदी प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए कंप्यूटर प्रशिक्षण कार्यशाला का विशिष्ट महत्व है । उन्होंने सभी प्रतिभागियों से अनुरोध किया कि कार्यशाला में प्रशिक्षित होने के बाद कंप्यूटर में हिंदी का भरपूर प्रयोग करते हुए राजभाषा कार्यान्वयन संबंधी सभी लक्ष्य हासिल करने में सहयोग दें ।
एचपीसीएल आंचलिक कार्यालय, चेन्नै के उप प्रबंधक (राजभाषा) डॉ. एस. बशीर ने कार्यशाला के उद्देश्य से प्रतिभागियों को अवगत कराते हुए राजभाषा कार्यान्वयन के महत्व पर प्रकाश डाला । कार्यशाला में व्याख्यान एवं प्रशिक्षण डॉ. सी. जय शंकर बाबु, सदस्य सचिव, नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, कोयंबत्तूर एवं सहायक निदेशक (राजभाषा), कर्मचारी भविष्य निधि संगठन, कोयंबत्तूर द्वारा दिया गया । कंप्यूटर में यूनिकोड का प्रयोग, भाषाई कंप्यूटिंग के लिए उपलब्ध संसाधन, हिंदी शब्द संसाधन के आसान तरीकों से पवरपाइंट प्रस्तुति के साथ उन्होंने अवगत कराया । श्री सुरेश किनी एवं श्री सुनील सालियन ने कार्यशाला के सफल आयोजन के लिए समन्वय का दायित्व सफलतापूर्वक निभाया । अंत में श्री कमलदीप के धन्यवाद ज्ञापन के साथ कार्यशाला सुसंपन्न हुई ।
कार्यशाला में शामिल मंगलूर मंगलूर एल.पी.जी. आयात सुविधा की इकाइयों के अधिकारियों की सूची इस प्रकार है – श्री छतरसिंह, श्री सुरेश किणी, श्री सदानंद शेट्टी, श्री व. महादेवन, श्री वेणूमाधव, श्री रामचंद्र नारायण राव, श्री लूईस पी.वी., श्री राजन कुट्टियाल, श्रीमती नूतन शेट्टी, श्री एन. सतीश कुमार, श्री वी. प्रदीप चंद्रा, श्री नीरज चक, श्री वासु नायक, श्री कमल दीप, श्री प्रभाकर वा. कोकणे, श्री असीम कुमार बिश्वास, श्री चि. मांगीलाल, श्रीमती यशोधरा, श्री सुनील सालियन, श्रीमती वीणा यादव, श्री थंगवेल.मु, श्री दीपक कुमार वर्मा, जी.एस. हरगोपाल, श्री कुमार राउत, श्री महेंद्र सिंह यादव, श्रीमती अनिता शेट्टी

1 comment:

गिरिजेश राव said...

जान कर अच्छा लगा। ऐसे कार्यक्रम वास्तव में कार्यालयों में हिन्दी प्रयोग को बढ़ावा दे रहे हैं।